हेलेन केलर: विकलांगता से हार नहीं मानने की प्रेरणा

हेलेन केलर एक अमेरिकी लेखक, राजनीतिक कार्यकर्ता और आचार्य थीं। वह कला स्नातक की उपाधि अर्जित करने वाली पहली बधिर और दृष्टिहीन थी। ऐनी सुलेवन के प्रशिक्षण में ६ वर्ष की अवस्था से शुरु हुए ४९ वर्षों के साथ में हेलेन सक्रियता और सफलता की ऊंचाइयों तक पहुँची। ऐनी और हेलेन की चमत्कार लगने वाले कहानी ने अनेक फिल्मकारों को आकर्षित किया। हिंदी में २००५ में संजय लीला भंसाली ने इसी कथानक को आधार बनाकर थोड़ा परिवर्तन करते हुए ब्लैक फिल्म बनाई। बेहतरीन लेखिका केलर अपनी रचनाओं में युद्ध विरोधी के रूप में नजर आतीं हैं।

हेलेन केलर की प्रेरणादायक कहानी


हेलेन केलर की प्रेरणादायक कहानी

हेलेन केलर का जन्म 27 जून, 1880 को अमेरिका के टस्कंबिया, अलबामा में हुआ था। जन्म के समय हेलेन एकदम स्वस्थ्य थी। उन्नीस महीनों के बाद वो बिमार हो गयी और उस बिमारी में उनकी नजर, ज़ुबान और सुनने की शक्ती चली गयी। हेलेन के माता-पिता के सामने एक चुनौती आ खड़ी हुई कि ऐसा कौन शिक्षक होगा जो हेलेन केलर को अच्छी शिक्षा दे पाए और हेलेन केलर समझ पाए। ऐसा इसलिए क्योंकि हेलन केलर सामान्य बच्चों से भिन्न थी। इसके बाद उन्हें आखिरकार एक शिक्षक मिल गया जिनका नाम था "एनि सुलिव्हान"। इन्होंने हेलन केलर को हर तरीके से शिक्षा दी, जिसमें उन्होंने मेन्युअल अल्फाबेट और ब्रेल लिपी आदि पद्धतियों से शिक्षा देने की कोशिश की।

धीरे-धीरे हेलेन केलर ने हर चीज को सीखना शुरू कर दिया। उन्होंने ब्रेल लिपी सीखी, और फिर उन्होंने लिखना और पढ़ना सीखा। उन्होंने अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन और लैटिन भाषाएं भी सीखीं। उन्होंने इतिहास, भूगोल, विज्ञान और गणित जैसे विषयों को भी सीखा।

हेलेन केलर ने 1904 में रटगर्स विश्वविद्यालय से कला स्नातक की उपाधि प्राप्त की। वह कला स्नातक की उपाधि अर्जित करने वाली पहली बधिर और दृष्टिहीन थी।

हेलेन केलर ने अपने जीवन में कई किताबें लिखीं। उनकी सबसे प्रसिद्ध किताबें हैं "द स्टोरी ऑफ माय लाइफ" और "द वॉंडरफुल वर्ल्ड ऑफ द ब्लाइंड"।

हेलेन केलर एक सामाजिक कार्यकर्ता भी थीं। उन्होंने विकलांग लोगों के अधिकारों के लिए काम किया। उन्होंने युद्ध विरोधी आंदोलन में भी भाग लिया।

हेलेन केलर एक प्रेरणादायक व्यक्ति थीं। उन्होंने अपने जीवन में कई चुनौतियों का सामना किया, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। उन्होंने दुनिया को दिखाया कि अगर आपके पास दृढ़ संकल्प है, तो आप किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।

हेलेन केलर की प्रेरणादायक बातें

  • "यदि आपके पास दृढ़ संकल्प है, तो आप किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।"
  • "विश्वास और धैर्य के साथ, हर कठिनाई को पार किया जा सकता है।"
  • "विश्व में बहुत से बुरे हैं, लेकिन अच्छाई हमेशा बुराई पर जीत जाती है।"

हेलेन केलर की प्रेरणादायक कहानी से हमें क्या सीखना चाहिए?

हेलेन केलर की प्रेरणादायक कहानी हमें कई महत्वपूर्ण बातें सिखाती है। सबसे पहले, यह हमें सिखाती है कि अगर हम दृढ़ संकल्प रखते हैं, तो हम किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। दूसरा, यह हमें सिखाती है कि विश्वास और धैर्य के साथ, हर कठिनाई को पार किया जा सकता है। तीसरा, यह हमें सिखाती है कि दुनिया में बहुत से बुरे हैं, लेकिन अच्छाई हमेशा बुराई पर जीत जाती है।

हेलेन केलर की कहानी हमें प्रेरित करती है कि हम कभी हार न मानें, चाहे कितनी भी बड़ी चुनौती क्यों न हो।